मुझे अपना पेनिस का साइज़ बढाना है

आज कल के नौजवानों की चिंता का सबसे बड़ा कारण उनके पेनिस का साइज़ है. सभी नौजवानों को लगता है की उनका पेनिस छोटा है और वो अपनी पार्टनर को सेक्स में संतुष्ट नही क्र पाएँगे और उसे बढाने के तरीके ढूंढते रहते हैं, पर जैसे की आप सभी जानते है, भगवान् ने हमे जो रंग रूप दिया है, हम उसे कोई भी क्रीम पौडर लगा कर नही बदल सकते.

हमारे शारीर का हर हिस्सा जैसे नाक , कान, हाथ और मुह का आकर नहीं बदला जा सकता है, वैसे ही पेनिस का आकार भी नहीं बदला जा सकता. आज मार्किट में बहुत सारे सामान बिक रहे हैं जो दावा करते है पेनिस का साइज़ बदलने का जो की बिलकुल गलत है. ये सिर्फ आपको भ्रमित करते हैं और आपसे पैसे वसूलते है.

Posted in All, Sex Education | 2 Comments

हस्तमैथुन / मस्टरबेशन का महत्त्व

पेनिस या वेजाइना और ब्रेस्ट्स को सेक्सुअल  प्लेज़र  के लिए छूने या रगड़ने को मास्टरबेशन या हस्तमैथुन कहते है। ये इंसान का अपने ही शरीर को प्यार करने का बहुत नॉर्मल और स्वस्थ तरीका है। ये एक प्रकार का सुरक्षित सेक्स है, जो मनुष्य को मदद करता है कि वह जान पाए कि क्या अच्छा महसूस होता है, कहाँ और कैसे छुआ जाए तो उन्हे अछा महसूस होता है और उन्हे ऑर्गॅज़म कैसे आता है।

girl masterbating

ये बेहद सामान्य है कि कुछ लोग जो मास्टरबेट करते है वो इसके बारे मे शर्मिंदा महसूस करते है क्योंकि सालों से ही इसे शारीरिक रूप से घातक, गैर-धार्मिक और बुरा माना गया है और ये अंधविश्वास अभी तक चला आ रहा है।

आज का नौजवान, इसके बारे मे बहुत ज़्यादा ही घबराया हुआ और अनिश्चित महसूस करते हैं। अपने परिजनो के साथ कम्युनिकेशन गैप, दोस्तों और मीडिया से हस्तमैथुन के बारे मे मिले हुए मिले-जुले सुझाव, अश्लील साहित्य की ओर रुझान और ग़लत इन्फर्मेशन के कारण और भी ज़्यादा चिंतित होने पर मजबूर कर देते है।

boy masterbating man

हस्तमैथुन/ मास्टरबेशन के बारे मे मिथक

हस्तमैथुन की शुरू से ही शारीरिक समस्याओं के लिए निंदा की गए है जिसमे नीचे दिए गये भी शामिल है।

• अंधापन

• मानसिक स्वास्थ्या समस्या

• घाटी हुए यौन क्रियाँ.

• यौन विकृति

• शीघ्रपतन

पेनिस या वेजाइना और ब्रेस्ट्स को सेक्सुअल  प्लेज़र  के लिए छूने या रगड़ने को मास्टरबेशन या हस्तमैथुन कहते है। ये इंसान का अपने ही शरीर को प्यार करने का बहुत नॉर्मल और स्वस्थ तरीका है। ये एक प्रकार का सुरक्षित सेक्स है, जो मनुष्य को मदद करता है कि वह जान पाए कि क्या अच्छा महसूस होता है, कहाँ और कैसे छुआ जाए तो उन्हे अछा महसूस होता है और उन्हे ऑर्गॅज़म कैसे आता है।

सभी नौजवानो के चिंता का एक मुख्या विषय यह है कि कितना करना उचित है। उचित का दायरा दिन मे कई बार से सप्ताह मे या महीने मे एक बार भी ना करने तक हो सकता है। हस्तमैथुन करने मे कोई समस्या नही है जब तक की ये ऑबसेसिव कंपल्सिव डिसॉर्डर, जहाँ इसे बार बार दोहराना ज़रूरी ना हो जाए।

मास्टरबेशन के यौन संबंधित लाभ:

• ये एक प्रकार का संभोग है जिसमे सेक्सुअल ट्रीटमेंट से होने वाले इन्फेक्शन और अनियोजित गर्भ का कोई ख़तरा नही है।

• इससे यौन तनाव निकल जाता है।

• हस्तमैथुन करने से आपको पता लगता है कि आपकी क्या ज़रूरत और इच्छाएँ है, जिससे आपको अपने पार्ट्नर को अपनी ज़रूरतें बताने में मदद मिल जाती है।

• हस्तमैथुन यौन दुष्क्रीयाओं का सामान्य उपचार भी है, जैसे अगर किसी महिला  को ऑर्गॅज़म नही आता है, तो वो इसके द्वारा ऑर्गॅज़म पा सकती है और अगर कोई मेल  असमयिक स्खलन / शीघ्रपतन से परेशान है तो मास्टरबेशन को प्रयोग करके कंट्रोल करना सीख सकता है।

अन्य स्वास्थ्य संबंधित लाभ:

 • ये आपके माषपेशियों को आराम देता है।

• आपको सोने मे मदद करता है।

• ये ब्रेन से न्यूरो ट्रांसमीटर्स (एनडॉर्फिन्स) को निकालने मे मदद करता है जिससे शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ महसूस करते है।

• तनाव को कम करता है।

• आत्म सम्मान को बढाता है।

Posted in Sex for Boys, Sex for Girls | Tagged , , , , , | 15 Comments

Raja Singh: kya muth marna sahi h…………..

Raja Singh asks that whether masturbation is good?

हस्त्मैथुन एक प्रकार से यौन सुख प्राप्त करने का सरल तरीका है, इसमे आपको किसी पार्टनर की जारूरत नही होती। जब भी अवसर मिले आप इसका आनन्द उठा सकते हैं। इसमे कोई बुराई नही है, बस एक बात का ख्याल रहना चाहिये कि अति हर चीज की बुरी होती है।हिन्दी मे कहें तो इनको जानना है कि क्या हस्त मैथुन उचित है?

Masturbation

अति कब होती है ये आपको स्वयं ही पता लग जायेगा।

Enhanced by Zemanta
Posted in Q & A : सवाल - जवाब | Tagged , , , | 104 Comments